मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने  स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ बैठक की। इस दौरान उन्होंने दिल्ली सरकार के अस्पतालों में स्वास्थ्य सूचना प्रबंधन प्रणाली (एचआईएमएस) और ई-स्वास्थ्य कार्ड के कार्यान्वयन को सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। दिल्ली के निवासियों को प्रभावी स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने के उद्देश्य से स्वास्थ्य सूचना प्रबंधन प्रणाली को लागू किया जाएगा। सीएम ने कहा कि ई-हेल्थ कार्ड के आने से दिल्ली के सरकारी अस्पतालों में दिल्ली के लोगों के लिए इलाज कराना आसान होगा और स्वास्थ्य सुविधाओं को सभी तक पहुंचाया जा सकेगा।

स्वास्थ्य विभाग अधिकारियों ने एचआईएमएस के कार्यान्वयन और ई-हेल्थ कार्ड जारी करने को लेकर प्रजेंटेशन दिया। एचआईएमएस के तहत, दिल्ली के निवासियों के स्वास्थ्य की जानकारी के डाटा को एकत्रित रखने के लिए वेब पोर्टल, मोबाइल एप जैसी सुविधाएं लांच की जाएंगी। स्वास्थ्य सूचना प्रबंधन प्रणाली को अगस्त 2021 तक दिल्ली के सभी सरकारी अस्पतालों में लागू किया जाएगा। मरीजों के देखभाल की सभी सेवाएं जैसे अस्पताल प्रशासन, बजट और योजना, आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन, बैक एंड सेवा और प्रक्रियाओं को इस प्रणाली के तहत लाया जाएगा। जहां तक मॉडल को लागू करने का सवाल है, तो पूरी प्रणाली डिजीटल और क्लाउड पर होगी। इससे दिल्ली के लोगों को एक जगह पर जानकारी हासिल करने और आपातकालीन मामलों में मदद मिलेगी। इसके साथ ही, देश में दिल्ली एकमात्र ऐसा राज्य बन जाएगा, जिसके पास क्लाउड-आधारित स्वास्थ्य प्रबंधन प्रणाली होगी। यह सुविधा भविष्य में निजी अस्पतालों के लिए भी विस्तारित की जाएगी।

केजरीवाल ने कहा दिल्ली के लोगों को कोई असुविधा न हो, यह सुनिश्चित करना हमारा कर्तव्य है। यह प्रबंधन प्रणाली लोगों को सभी स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने में सक्षम होनी चाहिए। इसके अलावा, 2021 तक अस्पताल जाने वाले दिल्ली के प्रत्येक निवासी को कार्ड जारी किया जाना चाहिए, ताकि सरकारी अस्पतालों की सेवाओं का लाभ उठा सकें। इसके साथ, हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि यह कार्ड एचआईएमएस के साथ एकीकृत हो।

दिल्ली सरकार लोगों को एक ई-हेल्थ कार्ड भी जारी करेगी। क्यूआर कोड आधारित ई-कार्ड के जरिए प्रत्येक मरीज की जन सांख्यिकीय और बुनियादी चिकित्सकीय जानकारी को ट्रैक किया जा सकेगा। इस कार्ड के माध्यम से दिल्ली के निवासियों को सभी योजनाओं और कार्यक्रमों के जानकारी दी जाएगी और स्वास्थ्य कार्ड को सहज सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिए स्वास्थ्य सूचना प्रबंधन प्रणाली के साथ भी जोड़ा जाएगा।

दिल्ली के निवासियों के लिए निर्बाध स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार के लिए एक केंद्रीयकृत स्वास्थ्य हेल्पलाइन भी होगी। दिल्ली सरकार मरीजों के लिए कॉल सेंटर भी स्थापित करेगी, जिसके जरिए मरीजों को टेलीफोन से काउंसलिंग, पते की जानकारी, शिकायत समेत अन्य सुविधाएं मिलेंगी।