वैश्विक महामारी कोरोना के खिलाफ भारत ने अपनी सामूहिक लड़ाई में कई अभूतपूर्व उपलब्धियां हासिल की है और देश में 106 दिनों के बाद पहली बार कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्‍या गिरकर 5 लाख से नीचे आ गई है। आज कोरोना के कुल सक्रिय मामले 4,94,657 हैं और 18 जुलाई को यह संख्‍या 4,96,988 थी। देश में इस समय कोरोना के सक्रिय मामले कुल पॉजिटिव मामलों का 5.73 प्रतिशत है।

यह दर्शाता है कि देश में कोरोना के मामलों में गिरावट का दौर लगातार जारी है और विश्‍व के कई देशों में इस समय कोरोना के नए मामले सामने आने के बाद यह गिरावट भारत के लिए और भी महत्‍वपूर्ण संकेत है।यह महत्‍वपूर्ण उपलब्धि केन्‍द्र सरकार की सतत और लक्षित रणनीतियों का नतीजा है जिन्हें विभिन्‍न राज्‍यों/संघ शासित प्रदेशों के साथ मिलकर प्रभावी तरीके से क्रियान्वित किया गया और इसमें चिकित्‍सकों तथा अन्‍य कोविड योद्धाओं की निस्‍वार्थ सेवा भी शामिल है। 27 राज्‍यों और संघ शासित प्रदेशों में कोरोना के सक्रिय मामले 20,000 से कम है।केवल 8 राज्‍यों/संघ शासित प्रदेशों में कोरोना के 20,000 से अधिक मामले हैं और दो राज्‍यों (महाराष्‍ट्र एवं केरल) में कोरोना के सक्रिय मामले 50,000 से अधिक हैं।

पिछले 24 घंटों में कोरोना के 44,281 नए मामले दर्ज किए गए हैं और इसी अवधि में 50,326 कोरोना मरीज ठीक हो गए हैं। यह लगातार 39वां दिन है जब कोरोना के नए मामलों की तुलना में ठीक होने वालों की संख्‍या अधिक देखी गई है।

 

इस अवधि में कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों की संख्‍या में बढ़ोतरी हुई है और कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों तथा कुल सक्रिय मरीजों के बीच अंतर भी बढ़ा है।

 

कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों की संख्‍या 80 लाख को पार कर गई है और 11 नवम्‍बर, 2020 तक ऐसे मरीजों की कुल संख्‍या 80,13,783 है। कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों और सक्रिय मामलों के बीच का अंतर बढ़कर 75,19,126 हो चुका है तथा देश की रिकवरी दर बढ़कर 92.79 प्रतिशत हो गई है।